Maharashtra Interracial Marriage Scheme 2021 Apply Form

Maharashtra Interracial Marriage Scheme 2021 Apply Form

Maharashtra Interracial Marriage Scheme (महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना2021)

 Maharashtra Interracial Marriage Yojana Apply Form

( महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना आवेदन फॉर्म)

Maharashtra Interracial Marriage Scheme 2021
Maharashtra Interracial Marriage Scheme 2021

Maharashtra Interracial Marriage Scheme:-

Maharashtra Interracial Marriage Scheme महाराष्ट्र सरकार ने अपने राज्य में अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा देने के लिए   Maharashtra Interracial Marriage Scheme   शुरू की है।

Maharashtra Interracial Marriage Scheme 2021:-जो हमारे समाज में अंतर्जातीय विवाह को नहीं माना जाता है और जो जोड़ो अंतर्जातीय विवाह करना चाहता है उसका समाज दुश्मन बन जाता है। लेकिन महाराष्ट्र सरकार अपने राज्य में अंतर्जातीय शादी करने वाले कपल को 50,000/- रुपये प्रदान करती थी।

लेकिन अंतर्जातीय शादी करने वाले कपल को 50,000 रुपए से ₹300000 कर दिया है|। यानी अगर शादीशुदा लोगों में से एक अनुसूचित जाति से है, तो महाराष्ट्र सरकार उसे 3 लाख रुपया प्रदान करेंगे।

यदि आप  Maharashtra Interracial Marriage Scheme  के लिए आवेदन करना चाहते हैं , और Maharashtra Interracial Marriage Scheme  का फॉर्म लेना चाहते हैं तो आपको इस लेख को शुरू से लेकर लास्ट तक पढ़ना होगा |

Maharashtra Interracial Marriage Scheme 2021 क्या है?

अक्सर हमारे समाज में अंतर्जातीय विवाह को लोग नहीं मानते हैं, लेकिन अगर कोई करता भी है तो समाज उसका दुश्मन बन जाता है और उसके पीछे पुलिस लगा दी जाती है। ऐसे जोड़ों की शादी हो जाती है लेकिन बाद में उन्हें रहने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

जैसे  खाने-पीने की चीजों से लेकर रहने तक की सुविधा उन्हें खुद ही करनी पड़ती है। ऐसे जोड़े की मदद करने और समाज में अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा देने और समाज में जातिगत भेदभाव को मिटाने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने Maharashtra Interracial Marriage Scheme 2021 की योजना शुरू की है जो एक बहुत अच्छी योजना है।

Maharashtra Interracial Marriage Scheme 2021 ka highlights

योजना का नाम अंतरजातीय विवाह योजना
योजना शुरू की महाराष्ट्र सरकार के द्वारा
लाभार्थी अंतर्जातीय विवाह करने वाले जोड़ें
उद्देश्य समाज मे अंतरजातीय  विवाह को बढ़ावा देना
राज्य महाराष्ट्र
ओफिसियल वैबसाइट Click Here
पहले दी जाने वाली राशि 50,000 रुपए

Maharashtra Interracial Marriage Scheme  के  तहत  50,000/- रुपए प्रदान की जाती थी  लेकिन अब  महाराष्ट्र  सरकार ने ₹50000 की राशि को  बढ़ाकर 3 लाख रुपए  कर दिया है।

यदि विवाहित जोड़ों में से एक अनुसूचित जाति का है, तो महाराष्ट्र सरकार उसे Maharashtra Interracial Marriage  योजना के तहत 3 लाख रुपए की राशि प्रदान करेगी|

Maharashtra Interracial Marriage Scheme  2021  उद्देश्य क्या है?

हमारे समाज में अनुसूचित जातियों के साथ इतना भेदभाव किया जाता है कि लोग किसी दलित परिवार को अपने घर नहीं आने देते, इसलिए उनसे शादी करना तो दूर की बात है। लेकिन महाराष्ट्र सरकार अपने राज्य में जातिगत भेदभाव को मिटाने के लिए ऐसी योजनाएँ लाती रहती है। योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा देना और समाज से जातिगत भेदभाव को मिटाना है।

यदि कोई अंतर्जातीय विवाह करता है, तो उसे अपने घर से बाहर रहना पड़ता है और उसे अपने आवास की व्यवस्था करनी होती है, इसलिए सरकार ने योजना के तहत इन लोगों की मदद करने का फैसला किया है और इस योजना को शुरू किया है।

Maharashtra Interracial Marriage Scheme 2021

(महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना 2021)

योजना का लाभ उन विवाहित जोड़ों को मिलेगा जिन्होंने हिंदू विवाह अधिनियम, 1955 या विशेष विवाह अधिनियम, 1954 के अंतर्गत आवेदन किया है। यानि कि राशि का 50% केंद्र सरकार द्वारा दिया जाता है और 50% राज्य सरकार  द्वारा दिया जाता है।

एक और बात आपको बता दें कि अगर आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको इसके लिए आवेदन करना होगा जिसे हम आगे बताएंगे कि आप कैसे आवेदन कर सकते हैं।

Maharashtra Interracial Marriage Scheme

(महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना) की विशेषताएं|

  • योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 3 लाख रुपये प्रदान किए जाते हैं, जिसमें से  50,000 रुपए राज्य सरकार द्वारा दिया जाता है और 2.50 लाख डॉ. अम्बेडकर फाउंडेशन द्वारा दिया जाता है।
  • इस योजना के आने से समाज में भेदभाव कम होगा।
  • अंतर्जातीय विवाह योजना के तहत दी जाने वाली राशि अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति के युवक या लड़की से विवाह करने वाले युवक या युवती को दी जाती है।
  • लाभार्थी को भुगतान की गई राशि सीधे उसके बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाती है। इसलिए, लाभार्थी के पास एक बैंक खाता होना चाहिए जो आधार कार्ड से जुड़ा होना चाहिए।
  • आपको यह जानकर खुशी होगी कि इस योजना में कोई वार्षिक आय नहीं है यानी आपकी वार्षिक आय कितनी भी हो, आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना के लिए योग्यता 2021

  • लाभार्थी महाराष्ट्र राज्य का स्थायी नियोक्ता होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए विवाहित जोड़े का कोर्ट मैरिज होना आवश्यक है।
  • विवाहित जोड़ों में से एक अनुसूचित जाति का होना चाहिए।
  • Maharashtra Interracial Marriage Scheme के तहत  युवक आयु  21 वर्ष  और युवती की आयु 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए|

महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • जाती प्रमाण पत्र  (Caste Certificate)
  • आयु प्रमाण पत्र ( Age Certificate)
  • आधार कार्ड (Aadhar Card)
  • बैंक अकाउंट पसबूक  (Bank Account Pasabuk)
  • कोर्ट मेरीज का प्रमाण पत्र (Court Mary’s Certificate)
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो  (Passport Size Photo)
  • मोबाइल नंबर   ( Mobile Number)

अंतरजातीय विवाह योजना के लिए 2021 आवेदन केसे करे?

आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले महाराष्ट्र सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा जो आपको होम पेज पर दिखाई देने के उसके  बाद होम पेज पर अंतरजातीय विवाह योजना का विकल्प दिखाएगा।

अगले पेज पर आपके सामने इस योजना का फॉर्म खुल जाता है। इस फॉर्म को सही से भरना है, फिर इसके साथ मांगे गए सभी दस्तावेजों को अपलोड करना है और लास्ट में सबमिट बटन पर क्लिक करना है और इस तरह आपका आवेदन हो गया है।

Some important questions?

Q .  महाराष्ट्र अंतर्जातीय विवाह योजना क्या है?

Ans:-   अंतरजातीय विवाह करने वाले ऐसे युवक या युवतियों को सरकार इस योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता प्रदान करती है। पहले इस योजना के तहत 50,000 रुपये की राशि दी जाती थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 3 लाख रुपये कर दिया गया है। 50,000/- रुपए राज्य सरकार द्वारा दिया जाता है और शेष रु. डॉ. अम्बेडकर फाउंडेशन की ओर से 2.5 लाख रुपये दिए जाते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top